Rediff.com  » Sports » एनबीए को भारत से जोड़ने वाला मुंबईकर

एनबीए को भारत से जोड़ने वाला मुंबईकर

October 14, 2019 10:11 IST

विवेक राणादिवे, सैक्रामेंटो किंग्स के भारत में जन्मे मालिक, मानते हैं कि बास्केटबॉल भारत का नं. 2 खेल बन सकता है।

रिडिफ़.कॉम की नोर्मा गोदिन्हो ने उन्हें सुना।

Sacramento Kings's De'Aaron Fox speaks with team owner Vivek Ranadive during their visit to the Taj Mahal on Wednesday, October 2. Photograph: Kind courtesy, NBA India/Twitter

फोटो: सैक्रामेंटो किंग्स के डी'आरॉन फॉक्स बुधवार, अक्टूबर 2 को अपने ताज महल के दौरे पर टीम के मालिक विवेक राणादिवे से बात करते हुए। फोटोग्राफ: NBA India/Twitter के सौजन्य से

बॉम्बे में जन्मे विवेक राणादिवे बेहद उत्साहित हैं।

सैक्रामेंटो किंग्स के मालिक बेहद बेसब्री से इंडियाना पेसर्स के साथ अपनी टीम के प्री-सीज़न मुकाबले का इंतज़ार कर रहे हैं -- यह भारत में खेला जाने वाला पहला NBA मैच होगा।

भारत को NBA से परिचित कराने की यह राणादिवे की पहली कोशिश नहीं है: उन्होंने 2011 में NBA इंडिया के गठन में भी सहायता की थी, जिसके बाद इतने वर्षों में देश भर में NBA अकेडमीज़ की शुरुआत हुई।

अब इस 61-वर्षीय व्यापारी के प्रयासों से उन्हें जन्म देने वाले शहर में भारत का पहला NBA मैच खेला जायेगा।

"मुझे लगता है कि यह एक लंबे सफ़र की ओर पहला कदम है। मुझे पूरी उम्मीद है कि ये खेल जारी रहेंगे और अगले दस वर्षों में इस सिस्टम से कई खिलाड़ी निकलेंगे और NBA में खेलने का मौका पायेंगे। मुझे लगता है कि इन खेलों को खेलने के लिये हमारे पास और भी अरेना उपलब्ध होंगे," राणादिवे ने कहा।

उन्होंने स्वीकार किया कि क्रिकेट को भारत के नं 1 खेल की जगह से हिलाना संभव नहीं है, लेकिन उन्हें पूरा विश्वास है कि बास्केटबॉल देश का नं 2 खेल ज़रूर बन सकता है। आँकड़ों से पता चलता है कि भारत में क्रिकेट के बाद किसी भी अन्य खेल से ज़्यादा फुटबॉल को देखा जाता है। लेकिन राणादिवे बेहद आशावादी इंसान हैं।

"मुझे लगता है कि बास्केटबॉल इस देश का दूसरा सबसे लोकप्रिय खेल बनेगा। क्रिकेट निश्चित रूप से शिखर पर बना रहेगा और (सचिन) तेंदुल्कर और (मंसूर अली ख़ान) पटौदी की भूमि पर इस खेल की जगह लेना बेहद मुश्किल है।

"लेकिन बास्केटबॉल और भारत का रिश्ता जुड़ना तय है। यह एक ऐसा खेल है, जिसे घर पर, बाहर, लड़के, लड़कियाँ, शहरों में, गाँवों में, अमीर, ग़रीब सभी खेल सकते हैं; इसके लिये क्रिकेट की तरह ज़्यादा जगह की ज़रूरत नहीं पड़ती और बॉम्बे की तरह बास्केटबॉल का प्रतिनिधित्व दुनिया का और कोई भी शहर नहीं कर सकता। बॉम्बे बॉलीवुड है, बॉम्बे फ़ैशन है, बॉम्बे रोमांच है, बॉम्बे मसाला है; यह संगीत की तरह मज़ेदार है, यह ख़ूबसूरत है!

"बास्केटबॉल एक ख़ूबसूरत खेल है, बास्केटबॉल एक एहसास है और कोई भी शहर इसके लिये इससे ज़्यादा उपयुक्त नहीं होगा। भारतीय लोगों को ख़ूबसूरती पसंद है, भारतीय लोगों को अच्छा खाना, अच्छा डांस पसंद है। यही तो बास्केटबॉल है। तो मुझे लगता है भारत में यह खेल बहुत लोकप्रिय होने वाला है," राणादिवे ने विश्वास से कहा।

The Sacramento Kings during a training session at the NSCI Dome in Mumbai, on Thursday, October 3. Photograph: Kind courtesy, NBA India/Twitter

फोटो: सैक्रामेंटो किंग्स गुरुवार, अक्टूबर 3 को मुंबई के NSCI डोम में एक ट्रेनिंग सेशन के दौरान।  फोटोग्राफ: NBA India/Twitter के सौजन्य से

भारतीयता से सराबोर सैक्रामेंटो किंग्स के मालिक ने 2017 में भारतीय NBA फैन्स से ख़ास रिश्ता जोड़ने के लिये अपने कोर्ट्स पर हिंदी शब्द राजा  का लोगो प्रस्तुत किया था।

"टीम ख़रीदने के पहले दिन से ही मैं भारत से जुड़ने की कोशिश कर रहा हूं। हमारी एक हिंदी वेबसाइट है। तो टीम ख़रीदने के दिन से ही मैं भारतीय लोगों से जुड़ा हुआ हूं। और खिलाड़ियों को यह बात पसंद है।"

"जब हम यहाँ आये, तो हमने उनके लिये एक वीडियो बनाया, जिसमें उन्हें हमारे देश के गौरवशाली इतिहास और गौरवशाली परंपरा का परिचय दिया गया। तो जितना NBA का परिचय भारत को दिया जा रहा है, उतना ही भारत का परिचय उन्हें भी दिया जा रहा है।," राणादिवे ने कहा।

NBA को भारत में लाने के विषय पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने स्पष्ट किया: "भारत में मेरा सफर तब शुरू हुआ जब मैं वॉरियर्स के साथ था और मेरी बेटी को बॉलीवुड नाइट का ख़्याल आया। तो हमने एक बॉलीवुड नाइट की, जहाँ उसने राष्ट्रगीत गाया और भारतीय खाने, भारतीय संगीत, भारतीय डांसर्स की व्यवस्था की गयी थी। हमने सभी फैन्स की लिये शर्ट्स बनवाईं; और यहीं से हमारा सफ़र शुरू हुआ।

विवेक राणादिवे को देखें...

"उसके बाद जब मैंने सैक्रामेंटो किंग्स को ख़रीदा, तब हर्ब साइमन (इंडियाना पेसर्स के मालिक) मेरे पास आये और उन्होंने कहा, 'देखो, जब भी तुम भारत जाओ, और मैं जानता हूं कि तुम जाओगे, तब मेरी टीम को अपने साथ ले जाना। ऐडम सिल्वर ने भी मुझसे वादा किया कि कमिश्नर बनने के बाद उनका सबसे पहला काम होगा भारत आना।

"तो कुछ साल पहले ऐडम मेरे साथ बॉम्बे आये और हमने भारत में सभी पहलों की शुरुआत की। ऐडम सिल्वर, NBA, डेविड स्टर्न... सभी ने अपने हर वादे को पूरा किया। और कुछ साल बाद आज हम भारत में एक प्री-सीज़न गेम खेलने जा रहे हैं," उन्होंने आगे कहा।

राणादिवे चाहते हैं कि शुक्रवार और शनिवार को मुंबई के NSCI डोम में फैन्स उनकी टीम की तरफ से कुछ शोर मचायें।

"मेरे सैक्रामेंटो किंग्स का प्री-सीज़न गेम इंडियाना पेसर्स के ख़िलाफ़ खेलना मेरे जीवन के सबसे रोमांचक दिनों में एक है। मैं चाहता हूं कि यहाँ के सभी लोग सैक्रामेंटों किंग्स की तरफ़ से नारे लगायें। पेसर्स के मालिक साइमन मेरे अच्छे दोस्त हैं और मैं चाहूंगा कि लोग उनकी टीम का भी समर्थन करें, लेकिन मुझे उम्मीद है कि सबसे ज़ोरदार नारे सैक्रामेंटो किंग्स के लिये ही गूंजेंगे।"

नोर्मा गोदिन्हो
Related News: NBA, NSCI
SHARE THIS STORYCOMMENT

close

<<

More from rediff

>