Rediff.com
Print this article

'केबीसी में आने तक मुझे कोई नहीं जानता था'

Last updated on: September 21, 2019 22:44 IST

'जब मैंने 1 करोड़ रुपये जीते, तो अमिताभ बच्चन ने मेरे दोस्तों से मेरे लिये गर्लफ्रेंड ढूंढने की बात कही।'

कौन बनेगा करोड़पति के 11वें सीज़न को अपना पहला करोड़पति मिल गया है।

बिहार के जहानाबाद ज़िले के सनोज राज, 25, अभी दिल्ली में रहकर UPSC परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं।

IAS बनने का सपना देखने वाले इस उम्मीदवार का कहना है कि KBC में जीती गयी रकम उनके पिता की होगी।

हालांकि वह जैकपॉट सवाल का सही जवाब नहीं दे पाये, 7 करोड़ की कुल राशि न जीत पाने के बावजूद सनोज अपनी जीती हुई रकम से ख़ुश हैं।

"अपनी ज़िंदग़ी के इस ख़ास पल के बारे में सोच-सोच कर मैं पूरी रात सो नहीं पाया," उन्होंने रिडिफ़.कॉम के संवाददाता राजुल हेगड़े को बताया।

आप केबीसी 11 के पहले करोड़पति हैं।

जी हाँ। मुझे तो अभी भी यक़ीन नहीं हो रहा है।

गेम शो में पैसे जीतना एक अद्भुत बात है और एक तरह का अनोखा अनुभव है।

कुछ ही पल पहले मैं हॉट सीट पर अपनी बारी आने का इंतज़ार कर रहा था, और फिर मैं सीज़न का पहला करोड़पति बन गया!

अपनी ज़िंदग़ी के इस ख़ास पल के बारे में सोच-सोच कर मैं पूरी रात सो नहीं पाया।

आपने KBC के लिये कितनी तैयारी की थी?

मैंने इस शो के लिये अलग से कोई तैयारी नहीं की है, क्योंकि मैं IAS परीक्षा के लिये तैयारी कर ही रहा हूं।

अलग-अलग विषय पढ़ने के कारण, मेरी जानकारी ने 1 करोड़ रुपये जीतने में मेरी मदद की।

समाचार और करंट अफेयर्स की मैं अच्छी जानकारी रखता हूं, लेकिन मेरी देवकथाओं और धर्मशास्त्र की जानकारी थोड़ी कमज़ोर है।

मुझे क्रिकेट के बारे में बहुत ही कम जानकारी है, और क्रिकेट वाले सवाल का जवाब मुझे नहीं सूझ रहा था।

इसलिये मैंने गेम छोड़ने का फ़ैसला किया।

(अंतिम सवाल था: कौन से ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज़ की गेंद पर एक रन लेकर डॉन ब्रैडमैन ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में अपना 100वाँ शतक पूरा किया था?)

कुल मिलाकर आपका अनुभव कैसा रहा?

मुझे लगता है कि मैं अच्छा खेला; वह भी अमिताभ बच्चन जैसी हस्ती के सामने बैठ कर।

मैंने इस सीज़न की सबसे बड़ी रकम जीती है, जो मेरे लिये गर्व की बात है।

बहुत सारे कंटेस्टंट्स के लिये अमिताभ बच्चन से मिलना ही बेहद ख़ास अनुभव होता है। उनके साथ आपका अनुभव कैसा रहा?

मैं उन्हें अपना आदर्श मानता हूं।

साथ ही वह और आयुष्मान खुराना मेरे चहेते अभिनेता हैं।

बच्चन जी से मिलना या कम से कम उन्हें दूर से देख पाना मेरा सपना था।

लेकिन KBC में आने तक मैं कभी उनसे मिल नहीं पाया।

इस बार, मैं उनसे मिला और मैंने उनसे बात भी की लेकिन सबसे बड़ी बात यह है कि उन्होंने शो पर मेरा ज़िक्र किया।

उन्होंने मेरी ज़िंदग़ी की चर्चा की, जो बहुत ही ख़ास बात है।

शुरुआत में मैं बहुत घबराया हुआ था, लेकिन उन्होंने मेरा हौसला बढ़ाया और मुझसे ऐसे बात की, जैसे वह मुझे सालों से जानते हों।

जब आप खेलना शुरू कर देते हैं, तो आप हर चीज़ भूल कर फिर पूरा ध्यान गेम पर लगा देते हैं।

आपने अपने पसंदीदा अभिनेता के रूप में आयुष्मान खुराना को भी चुना।

वह बहुत ही सादे और हरफ़नमौला अभिनेता हैं।

वह आम आदमी की ज़िंदग़ी से जुड़ने वाले किरदार बेहद आसानी से निभाते हैं।

उनकी ज़्यादातर फिल्में अलग-अलग मुद्दों पर होती हैं, और उन्होंने यहाँ तक पहुंचने के लिये कड़ी मेहनत की है।

क्या आप हमेशा KBC देखते आये हैं?

जी हाँ। KBC छोटे शहरों के लिये एक बड़ा शो है, क्योंकि यह हमारी जानकारी बढ़ाता है।

जब मैं 14-15 साल का था, तब से मैंने KBC देखना शुरू किया था और मैं सारे सवालों के जवाब देता था।

फिर मैं गिनता था कि अगर मैं शो पर होता तो कितने पैसे जीत पाता।

मैं पिछले आठ साल से KBC में आने की कोशिश कर रहा हूं।

आख़िरकार, इस साल मुझे शो पर आने का बुलावा मिल गय।

आपके लिये सबसे यादग़ार पल कौन सा रहा?

जब बच्चन जी ने हॉट सीट पर बैठने के लिये मेरे नाम का ऐलान किया।

और फिर जब मैं रु 1 करोड़ जीत गया, तो उन्होंने मेरे दोस्तों को मेरे लिये गर्लफ्रेंड ढूंढने के लिये कहा (मुस्कुराते हुए)।

क्या KBC की इस सफलता ने आपकी ज़िंदग़ी बदल दी है?

जी हाँ। KBC में आने से पहले मैं कुछ भी नहीं था, लेकिन अब लोग मुझे जानते हैं।

मैं मुंबई के एक मॉल में गया, जहाँ लोग मुझे पहचान गये और मुझे बधाइयाँ देने लगे।

कुछ लोगों ने मेरे साथ सेल्फ़ीज़ भी लीं (मुस्कुराते हुए)।

क्या अमिताभ बच्चन ने आपको पैसे खर्च करने के बारे में कोई सलाह दी?

उन्होंने मुझे समझदारी से निवेश करने का सुझाव दिया।

साथ ही उन्होंने मुझे अपनी पढ़ाई पर ध्यान देने के लिये कहा।

मैं अपनी जीती हुई रकम अपने पिता को देना चाहता हूं लेकिन इसके एक हिस्से से मैं एक बगीचा लगाउंगा।

आपकी जीत पर जहानाबाद के लोगों की क्या प्रतिक्रिया रही?

मेरे गाँव के सभी लोग ख़ुश हैं।

जिस स्कूल में मैं पढ़ाता था, वहाँ के बच्चों ने अपने परिवारों के साथ शो देखने का वादा किया है।

उन्होंने सोशल मीडिया पर अपनी डिस्प्ले पिक्चर हटा कर मेरी लगा दी है।

उनका प्यार और लगाव मेरे दिल को छू गया है।

पार्टी तो जहानाबाद वापस लौटने पर शुरू होगी। 

राजुल हेगड़े