Rediff.com  » Cricket » 'राहुल वर्ल्ड कप में रनों का अंबार लगा देंगे'

'राहुल वर्ल्ड कप में रनों का अंबार लगा देंगे'

Last updated on: May 22, 2019 17:53 IST

'मुझे लगता है भगवान ने उन्हें दुनिया में बल्लेबाज़ी करने के लिये ही भेजा है।'

'उन्हें बस अपनी बल्लेबाज़ी पर ध्यान देना चाहिये और हर सफलता अपने-आप उनके कदम चूमेगी।'

K L Rahul

फोटो: किंग्स XI पंजाब के लिये 14 मैच में 593 रन बना कर के एल राहुल ने अपने आलोचकों के मुंह पर ताला लगा दिया। फोटोग्राफ: BCCI

पिछले कुछ महीने के एल राहुल के लिये कठिनाइयों से भरे रहे हैं।

लगातार कई मैचों में कम स्कोर के बाद उन्हें ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज़ के दौरान भारतीय टीम से बाहर कर दिया गया था, जिसके बाद एक टीवी शो में भद्दी बयानबाज़ी के लिये हार्दिक पंड्या के साथ उन्हें बर्खास्त कर दिया गया।

अपनी बर्खास्तग़ी के दौरान दृढ़ निश्चय के साथ राहुल ने कड़ी मेहनत की और इंग्लैंड लायन्स के ख़िलाफ़ होम सीरीज़ में भारत 'ए' के लिये काफी रन बनाये।

27 साल के राहुल ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ़ T20I सीरीज़ में 50 और 47 के स्कोर के साथ भारतीय टीम में शानदार वापसी की।

और IPL में किंग्स XI पंजाब के लिये 135 की स्ट्राइक रेट से 6 अर्धशतकों और एक शतक के साथ 14 मैच में 593 रन ठोक कर वो अपने रंग में लौटे और अपने आलोचकों का मुंह बंद कर दिया।

मैंगलोर के उनके कोच सैम्युएल जयराज राहुल की धमाकेदार वापसी से बेहद खुश हैं और अपने शिष्य को ICC वर्ल्ड कप में भारत का प्रतिनिधित्व करते देख उनकी खुशी का ठिकाना नहीं है।

जयराज का मानना है कि अगर राहुल IPL की तरह अपना नैचुरल गेम खेलें, तो वह वर्ल्ड कप में रनों का अंबार लगा देंगे।

कोच ने बताया कि राहुल या तो ओपनर या नं 4 पर बल्लेबाज़ी कर सकते हैं और अगर वह विकेट पर टिके, तो विश्व कप की कहानी ज़रूर लिखेंगे।

जयराज ने रिडिफ़.कॉम के हरीश कोटियन को बताया कि कैसे राहुल अपने मुश्किल दौर से बाहर आये और विश्व कप के लिये तैयार इस दायें हाथ के बल्लेबाज़ के लिये उनकी क्या सलाह है।

 

आइपीएल में शानदार प्रदर्शन के साथ राहुल विश्व कप के लिये तैयार लग रहे हैं।

इस साल के IPL में उनकी सफलता का क्या राज़ है?

उसके स्ट्राँग बेसिक्स, तकनीक, हुनर ही उसे यहाँ तक लाया हैं।

वो बेहतरीन बल्लेबाज़ है। अगर वो अपना दिमाग खेल में लगाये, तो बहुत ही अच्छा बल्लेबाज़ बन सकता है।

वो अपनी टीम की ज़रूरत के अनुसार ओपनर या नं 4 पर बल्लेबाज़ी कर सकता है।

मुझे लगता है, वो जहाँ भी बल्लेबाज़ी करे, उसे लंबे समय तक टिक कर खेलना चाहिये। उसे 50वें ओवर तक टिके रहने पर ध्यान देना चाहिये, और अपनी ज़िम्मेदारी को समझना चाहिये।

इंग्लैंड में स्थितियाँ आसान नहीं होंगी और उसे खुद को पूरी तरह झोंक देना होगा।

क्या आपने विश्व कप में उनके चयन के बारे में उनसे बात की?

बतौर कोच, अपने शिष्य को विश्व कप में जाता देख आप कैसा महसूस कर रहे हैं?

मैंने उससे बात की और उसे बधाई दी। वो बहुत खुश है। पहली बार दक्षिण कन्नड़ जिले से कोई खिलाड़ी विश्व कप खेलने जा रहा है और हमारी शुभकामनाऍं और दुआऍं उनके साथ हैं।

मैंगलोर में हम सभी इस बात को लेकर उत्साहित हैं। इससे मेरी अकेडमी और शहर में क्रिकेट खेलने वाले लड़कों का हौसला दुगुना हो गया है।

हम सभी चाहते हैं कि राहुल विश्व कप में शतक लगाये और भारतीय टीम विजेता के रूप में वापस लौटे।

क्या IPL का अच्छा प्रदर्शन विश्व कप में उनके काम आयेगा, जबकि दोनों फॉर्मैट्स अलग- अलग हैं?

मुझे लगता है कि वो विश्व कप में ज़रूर धमाका करेगा।

उसे IPL के हर मैच में रन मिले हैं, उसने एक शतक और कई अर्धशतक बनाये हैं। IPL की हर पारी में उसने धुआँधार बल्लेबाज़ी की है।

उन्हें इसी शानदार फॉर्म के साथ विश्व कप में कदम रखना चाहिये।

कुछ दिन पहले वो बंगलुरू के एनसीए में प्रैक्टिस कर रहा था। मुझे जान कर खुशी हुई कि वो बॉल को अच्छी तरह मिड्ल कर रहा है।

क्या विश्व कप के लिये जाने से पहले आप राहुल के साथ काम करेंगे? क्या आप उन्हें कोई सलाह देना चाहेंगे?

उसे मैं बस एक छोटी सी सलाह देना चाहूंगा -- स्विंग होती गेंद को सावधानी से खेलना।

अगर वो स्विंग को संभाल लेगा, तो रन ज़रूर बनायेगा।

उसे गेंद के अनुसार खेलना होगा। अगर गेंद उसके ज़ोन में हो, तो उसे अपने शॉट्स खेलने चाहिये।

उसे अपना नैचुरल गेम खेलना चाहिये, वो एक धुआँधार बल्लेबाज़ है।

मुझे लगता है कि वो अब तैयार है। अब उसकी बल्लेबाज़ी में कोई कमी नहीं है।

K L Rahul

फोटो: कोच सैम्युअल जयराज का कहना है कि राहुल से बेहतर 'रीवर्स स्वीप बल्लेबाज़' उन्होंने कभी नहीं देखा। फोटोग्राफ: Robert Cianflone/Getty Images

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर राहुल का प्रदर्शन स्थिर नहीं रहा है। उनकी तकनीक में कोई कमी थी या उनके जज़्बे में?

इसका दोष पूरी तरह उसकी सोच को दिया जा सकता है, क्योंकि बल्लेबाज़ी हर जगह एक जैसी ही होती है।

ये उसका पहला वर्ल्ड कप है और उसे इस टूर्नामेंट में अपना पूरा दम-खम लगाना होगा।

युवा खिलाड़ी होने के नाते वो विश्व कप में ज़रूर अच्छा प्रदर्शन करेगा, लेकिन उसके लिये उसे दिमाग़ी तौर पर तैयार होना होगा।

उसे रन बनाने के लिये सही योजना बनानी होगी, बड़े स्कोर खड़े करने की योजना, और मुझे पूरा विश्वास है कि वो ऐसा ज़रूर करेगा।

मुझे पूरा यक़ीन है कि वो विश्व कप में रनों का अंबार लगा देगा।

राहुल के लिये ये सफर आसान नहीं रहा है, ख़ास कर एक टेलीविज़न शो पर उनके बयानों के लिये उनकी बर्खास्तग़ी के बाद। क्या आपको खुशी है कि लड़खड़ाने के बाद उन्होंने धमाकेदार वापसी की है और सिर्फ अपने बल्ले से बात की है?

उसने उस समय (बर्खास्तग़ी के दौरान) अपने क्रिकेट को सुधारा है और खेल पर ध्यान दिया है।

उसने बेसिक्स पर ध्यान दिया है और बहुत ही शानदार वापसी करने में सफल रहा है।

मुझे लगता है भगवान ने उसे दुनिया में बल्लेबाज़ी करने के लिये ही भेजा है।'

उसे बस अपनी बल्लेबाज़ी पर ध्यान देना चाहिये और हर सफलता अपने-आप उसके कदम चूमेगी।

विश्व कप उसके लिये अपना हुनर दुनिया के सामने लाने का और अपनी बल्लेबाज़ी का लोहा मनवाने का एक मौका है।

आने वाले सालों में वो दुनिया के बेहतरीन बल्लेबाज़ों में से एक होगा।

क्रिस गेल का मानना है कि राहुल अगर अच्छी बल्लेबाज़ी करते रहे, तो अगले विराट कोहली बन सकते हैं। पिछले दो वर्षों में उन्होंने अपनी बल्लेबाज़ी को कैसे बदला है, ख़ास तौर पर सीमित ओवर्स के फॉर्मैट में?

हमने बचपन से देखा है कि वो दिमाग़ी तौर पर बेहद मज़बूत है।

खेल की तरफ़ उसकी सोच बहुत ही शानदार है।

वो हमेशा बिग हिटर बनना चाहता था और आज हम उसी बिग हिटर को देख रहे हैं।

मैं मानता हूं कि वो बेहतरीन रीवर्स स्वीप बल्लेबाज़ है।

वो खेल को जल्दी बदलता है, क्योंकि वो चीज़ें जल्दी सीख लेता है, उसने खेल को बहुत तेज़ी से सीखा है।

कोचेज़ होने के नाते हम नेट्स में उसके लिये थ्रो डाउन्स या बोलिंग करने का पूरा मज़ा लेते हैं।

बल्लेबाज़ी उसका जुनून है। बल्लेबाज़ी ही उसकी ज़िंदग़ी है।

बचपन से ही, उसे बल्लेबाज़ी पसंद है।

जब हम नेट्स में 'लास्ट बॉल' बोलते थे, तो उसकी लास्ट बॉल और 20 बॉल के बाद और भी 30 बॉल तक चलती रहती थी।

राहुल की बल्लेबाज़ी नेट्स में कभी खत्म नहीं होती थी, और मैचेज़ में भी हम वही देख रहे हैं।

कवरेज: 2019 विश्व कप

हरीश कोटियन
Related News: BCCI
SHARE THIS STORYCOMMENT